Thursday, February 2, 2023
Homeउत्तराखंडUttarakhand: उत्तराखंड के स्कूलों में आउटसोर्सिंग से होगी 4000 कर्मचारी की भर्ती,...

Uttarakhand: उत्तराखंड के स्कूलों में आउटसोर्सिंग से होगी 4000 कर्मचारी की भर्ती, वित्त विभाग को भेजा प्रस्ताव

- Advertisement -

Uttarakhand

इंडिया न्यूज, (Uttarakhand): उत्तराखंड शिक्षा विभाग के स्कूलों और विभागीय कार्यालयों में आउटसोर्सिंग से 4000 पदों पर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की भर्ती होगी। कार्मिक विभाग से इसकी मंजूरी हो गई है। इसका प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा जा चुका है। इसके साथ ही 950 पदों पर सीआरपी, बीआरपी भी आउटसोर्सिग से रखे जाएंगे।

सीएम ने खाली पदों को भरने के दिए थे निर्देश
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को विभाग में खाली पदों को भरने के निर्देश दिए हुए थे। सीएम के निर्देश के बाद विभाग में लेक्चरर के पदों पर गेस्ट टीचरों की भर्ती के साथ ही चतुर्थ श्रेणी के खाली पदों को और सीआरपी एवं बीआरपी के पदों को भरने की तैयारी है।

वित्त से मंजूरी मिलने पर होगी खाली पदों पर भर्ती
शिक्षा सचिव रविनाथ रमन के अनुसार विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के 7000 से अधिक पद हैं, जिसमें से खाली पदों पर आउटसोर्सिंग के माध्यम से भर्ती किया जाना है। इसके लिए विभाग की ओर से कार्मिक और वित्त विभाग को प्रस्ताव भेजा गया है। कार्मिक विभाग से इसकी मंजूरी मिल गई है, जबकि वित्त विभाग की ओर से कुछ आपत्ति लगाई गई थी। विभाग की ओर से आपत्ति का निपटारा कर इसे फिर से वित्त विभाग को भेजा गया है। वित्त से मंजूरी मिलने के बाद चतुर्थ श्रेणी के खाली पदों पर आउटसोर्सिंग से कर्मचारियों की भर्ती की जाएगी। वहीं विभाग में 950 पदों पर सीआरपी और बीआरपी की नियुक्ति की जानी है। कार्मिक विभाग की ओर से कहा गया है, कि सेवारत शिक्षकों से सीआरपी, बीआरपी का काम लिया जाए, लेकिन हाईकोर्ट का आदेश है कि सेवारत शिक्षकों को इस काम में न लगाया जाए।

40 हजार होगा मानदेय
शिक्षा सचिव ने कहा कि शिक्षकों से इस काम को लिया गया तो छात्रों की पढ़ाई प्रभावित होगी। इसे देखते हुए कार्मिक को प्रस्ताव भेजा गया है कि आउटसोर्सिंग के माध्यम से इनकी भी नियुक्ति की जाए। लगभग 40 हजार रुपये मानदेय पर आउटसोर्सिंग से सीआरपी, बीआरपी को रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें: नेपालियों ने किया भारतीय मजदूरों पर पत्थरबाजी, काली नदी पर बन रहे तटबंध का कर रहे विरोध

Connect Us Facebook | Twitter
SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular