Wednesday, May 25, 2022
Homeराष्ट्रीयगुरु तेगबहादुर के पग से पावन हुई माटी, पड़ गया नाम गुरुद्वारा...

गुरु तेगबहादुर के पग से पावन हुई माटी, पड़ गया नाम गुरुद्वारा गुरु का ताल 400th Prakash Parv of Sikh Guru Tegh Bahadur

इंडिया न्यूज, आगरा।

400th Prakash Parv of Sikh Guru Tegh Bahadur : सिख धर्म के नौवें गुरु श्री गुरु तेगबहादुर साहिब के पग 375 साल पहले आगरा की माटी पर पड़े। इससे आगरा की धरती पावन हो गई। उनके चरण जिस जगह पड़े, सिकंदरा क्षेत्र के उस स्थल का नाम पड़ गया गुरु का ताल। गुरु महाराज के 400 वें प्रकाश पर्व पर गुरुद्वारा दुख निवारण गुरु के ताल पर 21 अप्रैल को भव्य आयोजन होगा।

इस दौरान भजन कीर्तन भी होगा। गुरुद्वारा प्रमुख संत बाबा प्रीतम सिंह ने बताया कि देशभर में गुरु तेग बहादुर साहिब का 400 वां प्रकाश पर्व 21 अप्रैल को धूमधाम से मनेगा। इसके लिए गुरुद्वारा दुख निवारण गुरु का ताल में वीरवार को विशेष कीर्तन दरबार का आयोजन किया जाएगा, जिसमें अमृतसर के रागी जरनैल सिंह और हरदीप सिंह कीर्तन करेंगे।

गुरुद्वारा में होगी भव्य सजावट (400th Prakash Parv of Sikh Guru Tegh Bahadur)

गुरु महाराज के 400वें प्रकाश पर्व पर विशेष कीर्तन दरबार के साथ फूलों का दिवान सजेगा। दूरदराज से संगत कीर्तन दरबार में शामिल होगी। गुरुद्वारा पर भव्य सजावट भी होगी। कल शाम को रागी जत्थे छह से 10 बजे तक कीर्तन सुनाकर संगत को निहाल करेंगे। सभी संगत आयोजन में शामिल होकर पुण्य कमाएं।

गुरुद्वारा गुरु के ताल के मीडिया प्रभारी मास्टर गुरनाम सिंह ने बताया कि श्री गुरु तेगबहादुर साहिब 1675 में आगरा अपने श्रद्धालु हसन अली से मिलने आए थे। ये भेड़ बकरियां चराता था और गुरु महाराज का सेवक था। गुरु महाराज जिस स्थान पर बैठे, उसे अब गुरु के ताल के नाम से जानते हैं। यहां से ही गुरु महाराज ने औरंगजेब को गिरफ्तारी दी।

(400th Prakash Parv of Sikh Guru Tegh Bahadur)

Also Read : एक ही परिवार के 7 लोग जिंदा जले, झोपड़ी में आग लगने से हुआ हादसा 7 People of the Same Family Burnt Alive

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular