Saturday, May 28, 2022
Homeउत्तर प्रदेशडीएम साहब, बेसिक शिक्षा मंत्री बोल रहा हूं: दो लोगों को भेजा...

डीएम साहब, बेसिक शिक्षा मंत्री बोल रहा हूं: दो लोगों को भेजा है इनकी जमीन से कब्जा हटवाओ, फिर फोनवाले मंत्री पहुंचे हवालात, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान DM had to Make Fake calls in Bandayu

बदायूं में मंगलवार को डीएम कार्यालय से दो नटवरलाल पकड़े गए। इनमें से एक युवक ने बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह बनकर डीएम दीपा रंजन को कॉल की। बातचीत के दौरान कहा कि दो लोग आपके कार्यालय भेजे हैं, उनकी जमीन पर कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया है। तुरंत इनकी जमीन से कब्जा हटवाया जाए। शक होने पर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया गया। दोनों ने कब्जा हटवाने के नाम पर दो लाख रुपये में सौदा तय किया था।

इंडिया न्यूज, बदायूं : DM had to Make Fake calls in Bandayu बदायूं में मंगलवार को डीएम कार्यालय से दो नटवरलाल दबोचे गए। पहले उन्होंने डीएम दीपा रंजन को बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह बनकर कॉल की। कहा कि दो लोग आपके कार्यालय भेजे हैं, उनकी जमीन पर कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया है। तुरंत इनकी जमीन से कब्जा हटवाया जाए। ये कहकर थोड़ी देर बाद दोनों शातिर युवक कार्यालय में घुस गए। शक होने पर डीएम ने मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगवाया तो लोकेशन डीएम आॅफिस की ही मिली। मौके पर पहुंची एसओजी ने दोनों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

जमीन कब्जा मुक्त कराने को लिए थे दो लाख

पहला आरोपी आसिफ खान पुत्र बलादत खान बिल्सी थाना क्षेत्र के गांव परौली का रहने वाला है, जबकि दूसरा सुमित कुमार पुत्र राजेंद्र पाल बिसौली के नागपुर गांव का है। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपियों ने नागपुर गांव निवासी हरिसिंह से उसकी जमीन से कथित कब्जा हटवाने के लिए दो लाख रुपये का सौदा किया था। हरिसिंह के बारे में बताया गया कि वह हत्या के मामले में 2005 से 2012 तक जेल में रहा। तब से जमानत पर बाहर है। इस जमीन को हरिसिंह करीब 35 साल पहले बेच चुका था पर खरीदार बीरबल ने उस वक्त बैनामा न कराकर स्टांप पेपर पर ही लिखा-पढ़ी कराकर मकान बना लिया था।

डीएम को ऐसे हुआ शक DM had to Make Fake calls in Bandayu

दोनों मंगलवार दोपहर डीएम कार्यालय पहुंचे। उस वक्त डीएम दीपा रंजन अपने कक्ष में बैठी थीं। आसिफ खान ने उनके कार्यालय के बाहर एकांत में खड़े होकर डीएम को बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह बनकर कॉल की। उन्हें बताया कि आसिफ खान नाम के एक व्यक्ति को आपके कार्यालय भेजा है, और वह आपके कक्ष के बाहर ही खड़े हैं। उनकी जमीन का एक मामला है। कुछ लोगों ने उस पर कब्जा कर लिया है। इनकी जमीन से तुरंत कब्जा हटवाया जाए। थोड़ी ही देर बाद दोनों नटवरलाल डीएम के कक्ष में प्रवेश कर गए। जब डीएम ने आसिफ से बात की तो उसकी आवाज सुनकर उन्हें शक हुआ।

Also Read : बाल सुधार गृह से तीन किशोर भागे, पुलिस टीम खोजबीन में जुटीं Three Teenagers run away from Muzaffarnagar

सर्विलांस पर नंबर लगाने पर पता चली हकीकत

डीएम ने तुरंत उसके मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगवा दिया और बाहर खड़े पुलिस कर्मियों को बुलाकर दोनों को कार्यालय के बाहर बैठा दिया। कुछ देर में एसओजी लोकेशन के आधार पर कार्यालय पहुंच गई और दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

डीएम ने यह कहा  DM had to Make Fake calls in Bandayu

DM had to Make Fake calls in Bandayu

डीएम ने दीपा रंजन कहा कि आरोपी आसिफ खान ने बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह बनकर कॉल की थी। उससे बातचीत के दौरान उसकी आवाज फोन करने वाले की आवाज से मिलती-जुलती लगी। इस पर मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगवाया गया तो वह नंबर आसिफ खान का ही निकला।

Also Read : अब गाजियाबाद स्ट्रीट डॉग्स सेंटर में मुफ्त इलाज Ultrasound machine for the Speechless

Connect With Us : Twitter Facebook

 

SHARE
Ajay Dubey
India News Senior Sub Editor. Danik jagran & Amarujala as a City & Crime Reporter 15 Years.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular