Tuesday, May 24, 2022
Homeउत्तर प्रदेशGirl Played Game to Get Government Job: सरकारी नौकरी पाने के लिए...

Girl Played Game to Get Government Job: सरकारी नौकरी पाने के लिए 21 साल की लड़की ने 57 साल के युवक से की शादी

इंडिया न्यूज, लखनऊ:
Girl Played Game to Get Government Job: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सरकारी के नौकरी पाने के लिए 21 साल की एक लड़की 57 साल के व्यक्ति की पत्नी बन गई, ताकि उसकी की मौत के बाद मृतक आश्रित कोटे से उसे नौकरी मिल सके। लेकिन नगर निगम के अधिकारियों ने उसका खेल पकड़ लिया और अब उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराए जाने की तैयारी है।

लखनऊ नगर निगम में मृतक आश्रित की नौकरी पाने के लिए एक महिला की जालसाजी का मामला सामने आया है। इसी साल 12 अप्रैल को 57 वर्षीय सफाईकर्मचारी सुंदर लाल का निधन हो गया था जिसके बाद नेहा जौहरी ने खुद को सुंदर लाल की पत्नी बताया और नौकरी पर दावा पेश किया, जबकि सुंदरलाल ने शादी नहीं की थी।

नौकरी के लिए लगाया फर्जी प्रमाण पत्र Girl Played Game to Get Government Job

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 21 साल की नेहा जौहरी ने सुंदर लाल की मौत के 4 महीने के बाद मृतक आश्रित कोटा से नौकरी के लिए आवेदन किया था, जिसमें उसने खुद को सुंदर लाल की पत्नी होने का दावा किया था। जैसे ही अधिकारियों के संज्ञान में आने मामला आया की सुंदर लाल की शादी नहीं हुई थी अधिकारियों के कान खड़े हो गए और इस मामले की जांच कराई गई। युवती ने प्रमाण के तौर पर आर्य समाज मंदिर में शादी का प्रमाण पत्र लगाया था और यह प्रमाण पत्र सुंदर लाल की मृत्यु से एक साल पहले का दिखाया गया था। जिसके बाद आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश के सत्यापन में यह फर्जी पाया गया।

जोनल अधिकारी को लिखा पत्र Girl Played Game to Get Government Job

मिली जानकारी के मुताबिक लखनऊ नगर निगम में सुंदरलाल की नियुक्ति 10 फरवरी 1992 को सफाईकर्मी के तौर पर हुई थी लेकिन 12 अप्रैल 2021 को बीमारी के बाद उनका निधन हो गया था। इसके बाद इसी साल अक्टूबर में नेहा जौहरी नाम की युवती ने मृतक आश्रित कोटे में सुंदर लाल के स्थान पर नौकरी के लिए आवेदन किया। जिसमें उसने नगर आयुक्त के साथ ही मंडलायुक्त, जोनल अधिकारी को पत्र लिखा।

युवती ने आर्य समाज मंदिर सुरेंद्र नगर में आयोजित 30 जून 2020 की शादी का प्रमाण भी संलग्न किया था और दावा किया कि वह सुंदरलाल की पत्नी है। मामले में अधिक जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग नगर निगम के प्रधान लिपिक मोहम्मद हामिद अंसारी ने बताया है कि विवाह प्रमाण पत्र को सत्यापन के लिए आर्य प्रतिनिधि सभा के मुख्य कार्यालय में भेजा गया था, लेकिन यह फर्जी निकला।

Read More: Bride Refused To Go With Groom: दूल्हे के हाथ देख दुल्हन ने किया शादी से इंकार, जाने क्या है मामला

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
Vaibhav Shukla
Sub-Editor @ India News, Everything seems impossible until it's done.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular