Wednesday, September 28, 2022
Homeउत्तर प्रदेशपीएम व सीएम पर टिप्पणी करने पर दरोगा नागेंद्र को जबरन रिटायर

पीएम व सीएम पर टिप्पणी करने पर दरोगा नागेंद्र को जबरन रिटायर

इंडिया न्यूज, कानपुर (UP Police) : शासन ने कानपुर के कोतवाली थाने में तैनात दरोगा नागेंद्र सिंह यादव को जबरन सेवानिवृत्त दिया है। दरोगा ने पीएम मोदी और सीएम योगी के खिलाफ टिप्पणी की थी। रिटायरमेंट के साथ ही दरोगा को तीन माह का समय दिया गया है। इससे कि वह अपना वेतन और अन्य भत्तों को निकाल सकें। वहीं दूसरी ओर दरोगा ने अपने खिलाफ की गई कार्रवाई को गलत बताते हुए कोर्ट जाने की बात कही है।

सीएम के आदेश पर हुई कार्रवाई

पुलिस की कार्यप्रणाली और आचरण दोनों पर ही शासन सख्त है। सरकार के गठन के बाद ही मुख्यमंत्री की तरफ से आदेश जारी हुआ था कि ऐसे पुलिस कर्मी जो अनुशासनहीनता की सारी हदें पार कर चुके हैं और उनकी उम्र 50 साल या उससे अधिक है, तो उनकी सूची तैयार कर अनिवार्य रूप से रिटायर कर दिया जाए। पूरे प्रदेश में ऐसे पुलिस कर्मियों की सूची बनना शुरू हुई। इसी क्रम में कोतवाली में तैनात दरोगा नागेंद्र सिंह यादव के ऊपर भी इसी आदेश के तहत गाज गिर गई।

10 साल में तीन बार किए गए दंडित

10 साल में उसे तीन बार परनिंदा लेख से दंडित किया गया। इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के अशोभनीय टिप्पणी करने के मामले में उसे दोषी पाया गया। अधिकारियों के सीयूजी नंबर पर फोन मिलाकर उसने अभद्र भाषा का प्रयोग भी किया। उससे भी बड़ा वह शराब पीकर ड्यूटी पर आना था। मेडिकल परीक्षण कराने के पर एल्कोहल की पुष्टि हुई। साथ ही वह मनमाने ढंग से आॅफिस से अनुपस्थित रहा है। इन सब बिंदुओं को कमेटी ने अपनी रिपोर्ट एडिश्नल सीपी हेडक्वाटर आनंद कुलकर्णी को सौंपी।

राजनैतिक पार्टियों में भी लेता था हिस्सा

कमेटी ने अपनी जांच में दावा किया है कि दरोगा नरेंद्र सिंह यादव बिना सूचना अनुपस्थित होकर वह एक राजनैतिक पार्टी की रैलियों और कार्यक्रम में शामिल होते हैं। साथ ही वह के विभागीय कार्य में रुचि भी नहीं लेते थे।

यह भी पढ़ेंः  माहुल शराब कांड में सपा विधायक रमाकांत पर लगेगा रासुका-गैंगस्टर, 13 लोगों ने गंवाई थी जान

यह भी पढ़ेंः  रामलला मार्ग का काशी विश्वनाथ कॉरीडोर की तर्ज पर होगा कायाकल्प, 797 करोड़ रुपये होंगे खर्च

यह भी पढ़ेंः  डॉ. रमानाथ त्रिपाठी भारत भारती सम्मान के लिए चयनित, 18 साहित्यकारों के नाम शामिल

यह भी पढ़ेंः बेटे ने मां की ईंट से कूंचकर की हत्या, बर्तन की आवाज सुनकर पड़ोसी महिला ने देखा शव

Connect With Us : Twitter | Facebook

 

SHARE
Ajay Dubey
Ajay Dubey
India News Senior Sub Editor. Danik jagran & Amarujala as a City & Crime Reporter 15 Years.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular