Thursday, February 9, 2023
Homeउत्तर प्रदेशInvestor Summit: मथुरा में आएगा 18000 करोड़ का निवेश, 50 हजार से...

Investor Summit: मथुरा में आएगा 18000 करोड़ का निवेश, 50 हजार से अधिक लोगों को मिलेंगे रोजगार के अवसर

ग्लोबल इंवेस्टमेंट समिट को लेकर तैयारियां अपने अंतिम दौर में है इससे पहले प्रदेश के मथुरा ( Mathura) में इंवेस्टर समिट का आयोजन किया गया जहां पर कई कंपनियों के सीईओ मौजूद रहे।

- Advertisement -

Investor Summit : फरवरी महीने में तीन दिवसीय ग्लोबल इंवेस्टमेंट समिट ( Global Investment Summit) आयोजित होने जा रहा है। सरकार इसको लेकर तमाम तैयारियां कर रही है। इस इंवेस्टमेंट समिट में देश विदेश की तमाम कंपनियां हिस्सा लेंगी। सरकार ने इस समिट के माध्यम से प्रदेश में 10 लाख करोड़ (10 Lakh Crore) के निवेश की उम्मीद जता रही है।

ग्लोबल इंवेस्टमेंट समिट को लेकर तैयारियां अपने अंतिम दौर में है इससे पहले प्रदेश के मथुरा ( Mathura) में इंवेस्टर समिट का आयोजन किया गया जहां पर कई कंपनियों के सीईओ मौजूद रहे। इस इंवेस्टमेंट समिट में मथुरा सांसद हेमा मालिनी ( Hema Malini ) भी मौजूद रहीं।

इस इंवेस्टमेंट समिट में 140 एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। वहीं जनपद को इस इंवेस्टमेंट समिट से 18,000 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है। जिससे जिले में 50 हजार से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। सबसे ज्यादा निवेश के ऑफर आतिथ्य और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों में आएं है। इसकी जानकारी मथुरा के जिलाधिकारी नें दी।

पर्यटन के क्षेत्र में आए सबसे अधिक निवेश के प्रस्ताव

मथुरा सांसद भी इस अवसर पर मौजूद रहीं। सांसद हेमा मलिनी ने कहा कि “हमने निवेशकों को आश्वासन दिया है कि उन्हें यहां उद्योग लगाने के लिए सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। पहले कानून व्यवस्था की समस्या थी लेकिन अब नहीं है और यहां अच्छे विकास कार्य होंगे। इस निवेश से लोगों को रोजगार के नए अवसर प्रदान होंगे।” गौरतलब है कि मथुरा में पर्यटन की दृष्टि से काफी अहम है। देश के कोने कोने से लोग यहां आते हैं। यही कारण है पर्यटन के क्षेत्र मे निवेश के प्रस्ताव सबसे ज्यादा आएं हैं।

क्या है GIS 2023 ?

ग्लोबल इंवेस्टमेंट समिट यूपी में होने वाला एक बड़ा निवेश कार्यक्रम है जो तीन दिवसीय होगा। 9 फरवरी से 11 फरवरी तक चलने वाले इस कार्यक्रम में देश विदेश की तमाम कंपनिया हिस्सा लेंगी। सरकार का कहना है कि इस समिट के माध्यम से प्रदेश में 10 लाख करोड़ से अधिक के निवेश का लक्ष्य रखा गया है। माना जा रहा है कि इस निवेश के बाद प्रदेश में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

विपक्ष का हमला

इस समिट के आयोजन को लेकर एक तरफ तैयारियों पूरा करने में सरकार जुटी है। वही विपक्ष, सरकार पर जमकर हमलावर है। प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी समावादी पार्टी का कहना है कि ये निवेश कार्यक्रम एक दिखावा भर है। सरकार वास्तिवक मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए ऐसा कर रही है। वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार ने इससे पहले जो निवेश के कार्यक्रम रखे थे उससे कितना निवेश आया इसकी जानकारी पहले दे।

ये भी पढ़ें- Sansand Khel Mahakumbh: पीएम मोदी के सामने सीएम योगी ने थामा हॉकी स्टिक… किए दो गोल

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular