Thursday, February 9, 2023
Homeउत्तराखंडJoshimath Subsidence: 270 परिवारों को अलग-अलग स्थानों पर किया गया शिफ्ट, 750...

Joshimath Subsidence: 270 परिवारों को अलग-अलग स्थानों पर किया गया शिफ्ट, 750 से अधिक इमारतें प्रभवित

जोशीमठ के प्रभावित इलाकों और विस्थापन कर रहे लोगो को लेकर सीएम धामी ने कहा कि अब तक 270 परिवारों को अलग-अलग स्थानों पर शिफ्ट किया जा चुका है। एक इलाके को छोड़ बाकी सभी जगहों पर स्थिति सामान्य है.

- Advertisement -

Joshimath Subsidence: जोशीमठ में हो रहे भू-धंसाव के चलते लोग दूसरे जगहों पर जा रहे हैं. सरकार का दावा है कि सभी लोगों को सुरक्षित दूसरे स्थानों पर शिफ्ट किया जा रहा है. जोशीमठ के प्रभावित इलाकों का सर्वेक्षण भी किया जा रहा है. भू वैज्ञानिकों की टीम ये पता लगाने में जुटी है कि भू-धंसाव के पीछे का कारण क्या है. इसकी रिपोर्ट जल्द ही राज्य सरकार को दी जाएगी. पूरे मामले पर सीएम धामी अपनी नजर बनाए हुए हैं. सीएम समय समय पर जोशीमठ में चल रहे बचाव कार्य को लेकर जानकारी भी ले रहे हैं.

सीएम धामी ने कही ये बात

जोशीमठ के प्रभावित इलाकों और विस्थापन कर रहे लोगो को लेकर सीएम धामी ने कहा कि अब तक 270 परिवारों को अलग-अलग स्थानों पर शिफ्ट किया जा चुका है। एक इलाके को छोड़ बाकी सभी जगहों पर स्थिति सामान्य है. कड़ाके की ठंड है, इसलिए प्रशासन को हीटर, गर्म कपड़े और दवाओं की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं.

उन्होंने कहा कि समिति का गठन किया गया है और यह सभी हितधारकों से बात कर रही है। पुनर्वास के लिए स्थान को लेकर भी बातचीत हो रही है। मुआवजे को लेकर भी बातचीत हुई। वहां आठ संस्थान सर्वे कर रहे हैं। उनकी रिपोर्ट जल्द आएगी उसके बाद हम जरूरी कदम उठाएंगे.

 

पुनर्वास के लिए सुझाव ले रहे अधिकारी

सीएम धामी ने कहा कि एक स्थान को छोड़ दें तो बाकी स्थानों पर स्थिति सामान्य है. जो लोग इस आपदा में प्रभावित हुए है उनके पूनर्वास की कवायद चल रही है. अधिकारियों का कहना है कि उन सभी लोगों से बात की जा रही है जो इसमे प्रभावित है. उनसे सुझाव लेकर पूनर्वास की योजना बनाई जाएगी जिसके लिए सरकार को रिपोर्ट भेजी जाएगी.

केंद्र रख रहा नजर

हाल ही सीएम धामी ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी. इस मुलाकात में सीएम धामी ने गृहमंत्री के सामने जोशीमठ की जानकारी रखी थी. गृह मंत्री ने सीएम धामी को हर संभव मदद का आश्वासन दिया था. जानकरी हो कि पीएमओ ने भी जशीमठ में जांच के लिए अधिकारी भेजे है. जो प्रभावित इलाकों को निरीक्षण कर रहे हैं. प्रारंभिक जांच में सामने आ रहा है कि कई इमारतें पूरी तरीके से असुरक्षित है तो वही कुछ को काफी कम नुकसान पहुंचा है.

ये भी पढ़ें- Weather Update: केदारनाथ धाम में हुई भारी बर्फबारी, आगामी 26 जनवरी तक बारिश-बर्फबारी का अनुमान

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular