Thursday, May 19, 2022
Homeउत्तर प्रदेशJudge sent the name by making a Fake ID in Prayagraj :...

Judge sent the name by making a Fake ID in Prayagraj : हत्यारोपी को नैनी सेंटल जेल में स्थानांतरित करने का भेजा ई-मेल

Judge sent the name by making a Fake ID in Prayagraj 


इंडिया न्यूज, प्रयागराज :
Judge sent the name by making a Fake ID in Prayagraj नैनी सेंट्रल जेल में जज के नाम से फर्जी आदेश भेजने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। जज के नाम पर फर्जी आईडी बनाकर जेल अधीक्षक को ईमेल भेजा गया। इसमें हत्या के मामले में निरुद्ध बंदी को स्थानांतरित करने की बात लिखी गई थी। जेल अधीक्षक की शिकायत पर साइबर थाना पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी। साथ ही एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

आठ माह से जेल में बंद हत्यारोपित

सोनभद्र का रहने वाला विवेक सिंह करीब आठ महीनों से नैनी जेल में निरुद्ध है। उसे प्रशासनिक आधार पर सोनभद्र जेल से स्थानांतरित किया गया था। कुछ दिनों पहले नैनी जेल अधीक्षक के पास एक ईमेल आया। चौंकाने वाली यह है कि मेल जिस आईडी से भेजा गया, वह एक जज के नाम से बनाई गई थी। इसमें बंदी विवेक सिंह को सोनभद्र जेल भेजने की बात लिखी हुई थी।

हार्डकॉपी न आने पर हुआ शक

अक्सर प्रशासनिक आदेशों की हार्ड कॉपी जेल में भेजी जाती है। ऐसे में शक होने पर जेल प्रशासन ने उच्चाधिकारियों के साथ ही जज को भी सूचना दी, जिनके नाम से आइडी बनाई गई थी। इसके बाद पता चला कि बंदी को स्थानांतरित कराने के लिए यह फजीर्वाड़ा किया गया है। इसके बाद जेल अधीक्षक ने तहरीर देकर साइबर थाने में अज्ञात में एफआईआर दर्ज कराई।

Read More : Flying Squad Raided Chillupar Candidate : आसपा प्रत्याशी के घर से 17.5 लाख का साबुन पकड़ा

गाजीपुर के युवक के नाम ली गई सिम

साइबर थाना पुलिस की पड़ताल में जानकारी हुई कि ईमेल आईडी बनाने के लिए जिस सिम का इस्तेमाल किया गया, वह गाजीपुर के सुजीत बिंद के नाम पर लिया गया। इसके बाद पुलिस उसकी तलाश में जुट गई और सटीक सूचना पर युवक को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी। पूछताछ में सुजीत ने बताया कि उसने अपने नाम से सिम खरीदकर गाजीपुर जेल में बंद शिवा सिंह को दिया था। ईमेल आईडी किसने बनाई, इस बारे में वह कुछ नहीं बता पाया।

कौन है मास्टरमांइड

साइबर थाने की पुलिस ने भले ही एक युवक को गिरफ्तार कर लिया हो, लेकिन फजीर्वाड़े का मास्टरमाइंड कौन है, इसका खुलासा होना अभी बाकी है। मामले के खुलासे के लिए पुलिस कोर्ट से अनुमति लेकर गाजीपुर जेल में बंद शिवा से पूछताछ करेगी। उससे पूछताछ में ही पता चल सकेगा कि जज के नाम से फर्जी ईमेल आईडी किसने बनाई। इसके अलावा साइबर थाना पुलिस उस आईपी एड्रेस को भी ट्रेस करने में जुटी है, जिससे ईमेल भेजा गया।

Read More : Case of Distributing Money in Kushinagar : स्वामी प्रसाद मौर्य को थाने ले गई पुलिस

Also Read : Husband Murdered Wife and Mother in Law : पत्नी और सास को उतारा मौत के घाट, अवैध संबंध से रोकने पर किया वारदात

Also Read : UP Election 2022 Sixth Phase Voting Tomorrow : छठे चरण में 57 सीटों पर मतदान कल, सीएम समेत दर्जनों दिग्गजों का होगा फैसला

Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE
Ajay Dubey
India News Senior Sub Editor. Danik jagran & Amarujala as a City & Crime Reporter 15 Years.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular