Tuesday, January 31, 2023
HomeअपराधKanpur Bikru Case: प्रशासन की गलती के वजह से जमानत मिलने के...

Kanpur Bikru Case: प्रशासन की गलती के वजह से जमानत मिलने के 13 दिन बाद भी जेल से बाहर नहीं आ पाई खुशी दुबे

खुशी दुबे के वकील का कहना है कि खुशी के बहार आते ही उनके ऊपर हो रहे सभी अत्याचार सामने आएगा ।

- Advertisement -

Kanpur Bikru Case: सुप्रीम कोर्ट ने कानपुर के बिकरू कांड मामले में आरोपित खुशी दुबे को जमानत दे दी है। इसके बावजूद भी वो अभी तक जेल में ही है, वो अभी जेल से बाहर नहीं आयी है। इस मामले पर खुशी दुबे के वकील शिवाकांत दीक्षित ने कहा कि मामले में सच्चाई छिपाने की कोशिश हो रही है, जिस केस की कार्रवाई कुछ घंटे में होनी चाहिए। उसमे पुलिस अब कुछ नहीं कर पाई है।

4 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट से मिल गया है जमानत

जिसकी वजह से कानपुर के बिकरू कांड में सह आरोपित खुशी दुबे अभी भी जेल में बंद है। सुप्रीम कोर्ट से 4 जनवरी को खुशी दुबे को जमानत मिल चुकी है लेकिन जमानतगीरों के सत्यापन को लेकर पुलिस का रवैया ठीक देखने को नहीं मिल रहा है।

कानपुर की पनकी और नौबस्ता पुलिस को खुशी दुबे के जमानत लेने वालों के सत्यापन का काम करना है लेकिन 12 दिन बीत जाने के बावजूद भी पुलिस ने सत्यापन का काम नहीं किया है। इसे लेकर खुशी दुबे के वकील शिवाकांत दीक्षित ने पुलिस के खिलाफ कई सवाल उठाये है।

also read-https://indianewsup.com/lucknow-univercityrohith-vemula-death-anniversary/

खुशी दुबे के वकील ने पुलिस पर लगाया आरोप

खुशी दुबे के वकीलों शिवाकांत दीक्षित ने कहा कि कुछ लोग सच को छुपाने की कोशिश कर रहे है। जमानत लेने वालों के सत्यापन का काम आधे घंटे में हो जाना चाहिए था लेकिन कई दिन बीत जाने के बावजूद भी पुलिस लापरवाही कर रही है।

इसके आगे कहा कि पुलिस के साथ साथ यूको बैंक के मैनेजर भी अपना काम नहीं कर रहे है। वकील शिवाकांत दीक्षित ने कोर्ट को इस बात की जानकारी दी। जिसके बाद कोर्ट ने 3 दिन के अंदर सभी जरूरी कागजातों को लेकर नौबस्ता थाने के थाना प्रभारियों के साथ यूको बैंक के मैनेजर को 19 जनवरी को कोर्ट में जमा करना है।

क्या है पूरा मामला

बिकरू कांड में 8 पुलिस वालों की निर्मम हत्या की गयी थी। जिसके बाद पुलिस ने विकास दुबे समेत उसके पांच साथियों का एनकाउंटर कर दिया था। उसी आरोपियों में से एक अमर दुबे भी था, जिसकी पत्नी खुशी दुबे है।

वारदात के समय खुशी नाबालिग थी लेकिन पुलिस ने फर्जी सिम कार्ड के मामले में और आपराधिक षड्यंत्र में शामिल होने को लेकर खुशी को भी जेल में बंद कर दिया। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खुशी दुबे को जमानत दे दी है। खुशी दुबे के बहार आते ही बहुत से रहस्य से पर्दा उठ जायेगा।

वकील शिवाकांत दीक्षित भी यह कह रहे हैं कि जब खुशी कई महीनों बाद जेल से बाहर आएगी। तब बहुत सारे सवालों और जवाबों का मामला सामने आएगा। खुशी के बहार आते ही उनके ऊपर हो रहे सभी अत्याचार सामने आएगा। हालांकि पुलिस से इस मामले में सवाल पूछने पर कोई कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। खुशी दुबे के वकील ने कहा की इसमें सारि गलती पुलिस प्रशासन की है। कोर्ट के जमानत के बाद भी खुशी को पुलिस रिहा नहीं कर रही है।

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular