Thursday, September 29, 2022
Homeउत्तर प्रदेशनैमिषारण तीर्थ के लिए जल्द शुरू होगी हेलीकाप्टर और इलेक्ट्रिक बस सेवा

नैमिषारण तीर्थ के लिए जल्द शुरू होगी हेलीकाप्टर और इलेक्ट्रिक बस सेवा

इंडिया न्यूज, लखनऊ: Naimisharan Tirtha : यूपी सरकार ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने किए कई योजनाएं शुरू करने जा रही है। इसी क्रम में काशी, अयोध्या और मथुरा के तर्ज पर अब नैमिष धाम भी संवरेगा। नैमिषारण्य को वैदिक शहर, आध्यात्मिक और धार्मिक पर्यटन के लिए वैश्विक केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। नैमिषारण्य तीर्थ तक पहुंचने के लिए जल्द लखनऊ से सीतापुर तक इलेक्ट्रिक बस और हेलिकाप्टर सेवा भी शुरू की जाएगी।

चार चरणों में होगा विकास

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर नैमिषारण्य तीर्थ क्षेत्र के विकास के लिए चार चरणों में कार्य योजना बनाई गई है। इसके अनुसार प्रमुख परियोजनाओं में पहले फेज में चक्र तीर्थ, मां ललिता देवी मंदिर, दधिचि कुंड और सीता कुंड का विकास होगा। दूसरे फेज में दधिचि कुंड, रुद्रावर्त महादेव, देवदेश्वर मंदिर और काशी कुंड का विकास किया जाएगा। इसके अलावा शहरी और क्षेत्रीय विकास के लिए अलग से कार्य योजना तैयार की गई है।

परिक्रमण पथ का भी होगा विकास

सीएम योगी आदित्यनाथ ने नैमिषारण्य के सभी कुंडों में स्वच्छ जल की उपलब्धता, चक्रतीर्थ के जीर्णोद्धार, दधीचि कुंड और मां ललिता देवी मंदिर के सुंदरीकरण कराने के निर्देश दिए हैं। मिश्रिख नगर पालिका के सीमा विस्तार भी किया जाएगा। इसके अलावा नैमिषधाम के 5, 14 और 84 कोसी परिक्रमा पथ का विकास भी किया जाएगा।

नैमिषारण्य तीर्थ का है महत्व

नैमिषारण्य तीर्थ सनातन धर्म के करोड़ों लोगों के लिए आस्था का प्रमुख केंद्र है और 88,000 ऋषियों की तपोस्थली है। यहां मां ललिता देवी मंदिर, चक्रतीर्थ, व्यास गद्दी, सूत गद्दी, हनुमान गढ़ी सहित कई पौराणिक और आध्यात्मिक दर्शनीय स्थल हैं। यहां मास की हर पूर्णिमा, अमावस्या, नवरात्र और फाल्गुन की चौरासी कोसी परिक्रमा में लाखों श्रद्धालु आते हैं।

यह भी पढ़ेंः बिजनौर में चोरी के शक में युवक को पेड़ से बांधकर जमकर पीटा, भर्ती

Connect With Us : Twitter | Facebook

SHARE
Asheesh Shrivastava
Asheesh Shrivastava
I'm Asheesh Shrivastava, Staff reporter at INDIA NEWS
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular