Tuesday, September 27, 2022
Homeउत्तर प्रदेश27 साल पुराने मामले में सजा का एलान आज, पूर्व सांसद उमाकांत...

27 साल पुराने मामले में सजा का एलान आज, पूर्व सांसद उमाकांत यादव समेत सात लोग हैं आरोपी

इंडिया न्यूज, जौनपुर (GRP constable massacre)। शाहगंज स्टेशन पर चार फरवरी 1995 को जीआरपी सिपाही हत्याकांड में दोषी कराए दिए गए मछलीशहर के पूर्व सांसद उमाकांत यादव समेत सात लोगों के खिलाफ आज सजा का एलान होगा। अपर सत्र न्यायाधीश तृतीय (एमपी/एमएलए कोर्ट) शरद कुमार त्रिपाठी की कोर्ट में सुनवाई हो चुकी है। मुकदमे में बहस के दौरान सीबीसीआईडी के वकील ने आरोपियों को अधिकतम सजा मृत्युदंड दिए जाने की मांग की थी।

सीबीसीआईडी ने दाखिल किया था चार्जशीट

सीबीसीआईडी ने कोर्ट में पूर्व सांसद व आजमगढ़ जिले के दीदारगंज थाना अंतर्गत सरावां निवासी उमाकांत यादव, उनके कार चालक राजकुमार निवासी खरसहन खुर्द थाना दीदारगंज, आजमगढ़, धर्मराज निवासी सफीपुर थाना खेतासराय, महेंद्र प्रसाद वर्मा निवासी ईश्वरपुर उर्फ सलहरीपुर थाना खुटहन, सूबेदार निवासी करंजाकला थाना सरायख्वाजा, सभाजीत पाल निवासी बांसदेव पट्टी थाना मड़ियाहूं के अलावा उमाकांत के गनर बच्चू लाल जिला चंदौली के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया था।

जीआरपी कांस्टेबल की हत्या का आरोप

आरोप है कि इन सभी ने 4 फरवरी 1995 को जीआरपी चौकी पर फायरिंग कर कांस्टेबल अजय सिंह की हत्या की थी। इसके अलावा कांस्टेबल लल्लन सिंह, निर्मल वाटसन, भरत लाल को गोली मारकर घायल कर दिया था। राजकुमार को पुलिस अभिरक्षा से छुड़ा लिया था। सीबीसीआईडी की विवेचना में आरोप सही पाए गए। 19 फरवरी 1996 को इस मामले में पहली तारीख पड़ी थी। इस मामले की सीबीसीआईडी द्वारा मानीटरिंग की जा रही थी।

यह भी पढ़ेंः सपा नेता पर कंटेनर से जानलेवा हमला, बाल-बाल बचे

Connect With Us : Twitter | Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular