Tuesday, October 4, 2022
Homeउत्तर प्रदेशरैपिड ट्रेन चलाने के लिए जर्मनी से 12 साल का करार, मेरठ-दिल्ली...

रैपिड ट्रेन चलाने के लिए जर्मनी से 12 साल का करार, मेरठ-दिल्ली के बीच चलेगी ट्रेन

इंडिया न्यूज, मेरठ: rapid train : मेरठ और दिल्ली के बीच रैपिड ट्रेन का संचालन किया जाना है। इसको अंतिम रूप दे दिया गया है। एक करार हुआ है जिसके तहत 12 साल के लिए जर्मनी की एक कंपनी के संग डील फाइनल हुई है। जर्मनी की रेलवे कंपनी डायचे बान एजी की सहायक कंपनी डायचे बान इंजीनियरिंग एंड कंसल्टेंसी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (डीबी इंडिया) रैपिड ट्रेन चलाएगी। देश के प्रथम दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कारिडोर के संचालन और मरम्मत के लिए एनसीआरटीसी ने डीबी इंडिया के साथ अनुबंध कर लिया है।

शुक्रवार डील हुई फाइनल

शुक्रवार को एनसीआरटीसी के दिल्ली स्थित कारपोरेट कार्यालय में एनसीआरटीसी के महाप्रबंधक विनय कुमार सिंह ने डीबी इंडिया के अधिकारियों के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। यह कंपनी 82 किमी लंबे दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कारिडोर का संचालन करेगी। अर्थात रैपिड ट्रेन चलाएगी। कारिडोर के स्टेशनों पर स्टाफ जैसे स्टेशन मैनेजर, ट्रेन कंट्रोलर समेत अन्य स्टाफ इसी कंपनी का होगा।

रेल कारिडोर मरम्मत कार्य भी देखेगी

इसके अलावा कंपनी रैपिड रेल कारिडोर का मरम्मत कार्य भी देखेगी। कारिडोर की साफ-सफाई, सिविल वर्क समेत स्टेशनों के मरम्मत कार्य डीबी इंडिया कंपनी के जिम्मे रहेंगे। मालूम हो कि आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय ने 2017 में मेट्रो रेल नीति जारी की थी, जिसमें रीजनल रेल और मेट्रो रेल परियोजनाओं में प्राइवेट सेक्टर की भागीदारी की आवश्यकता पर जोर दिया गया है। एनसीआरटीसी ने मेट्रो रेल नीति-2017 के उद्देश्य को पूरा किया है।

यह भी पढ़ेंः सरकार के निर्देश के बाद भी मनमर्जी की ब्रांडेड दवाईयां लिख रहे डाक्टर

Connect With Us : Twitter | Facebook |

SHARE
Asheesh Shrivastava
Asheesh Shrivastava
I'm Asheesh Shrivastava, Staff reporter at INDIA NEWS
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular