Tuesday, January 18, 2022
Homeउत्तर प्रदेशSolidarity is Necessary to Extinguish the fire of Hatred : मौलाना अरशद...

Solidarity is Necessary to Extinguish the fire of Hatred : मौलाना अरशद मदनी बोले, नफरत की आग बुझाने को एकजुटता जरूरी

इंडिया न्यूज, सहारनपुर।

Solidarity is Necessary to Extinguish the fire of Hatred : जमीयत उलमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के नवनियुक्त उपाध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने देश में बढ़ती सांप्रदायिकता पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिकता की इस लड़ाई में सभी वर्गों को शामिल करना जरूरी है और नफरत के माहौल को समाप्त करने के लिए एकजुट होकर मैदान में आना ही होगा।

नफरत और पक्षपात ठीक नहीं (Solidarity is Necessary to Extinguish the fire of Hatred)

मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि देश में बढ़ती हुई खतरनाक सांप्रदायिकता के संबंध में जो बातें सामने आई हैं, उनको लेकर सरकार की जो सोच और व्यवहार है और जिस तरह उन चीजों को पूरे देश में प्रस्तुत किया जा रहा है वो नफरत और पक्षपात पर आधारित है। नफरत को रोकने के लिए हमारे पास कोई ताकत नहीं है, लेकिन इसके उलट जो लोग ऐसा कर रहे हैं, उनके पास सत्ता की ताकत है। जिसे आज की दुनिया में सबसे बड़ी ताकत समझा जाता है। मगर आज भी ऐसी निराशाजनक स्थिति में आशा और विश्वास के चिराग रौशन हैं। देश का एक बड़ा वर्ग ऐसा है जो देश की वर्तमान स्थिति को गलत समझता है।

अकेले सफलता प्राप्त नहीं कर सकते (Solidarity is Necessary to Extinguish the fire of Hatred)

मौलाना मदनी ने कहा सांप्रदायिकता के खिलाफ जंग में हम अकेले सफलता प्राप्त नहीं कर सकते। हमें न केवल उस वर्ग को बल्कि समाज के सभी समान विचारधारा के लोगों को अपने साथ लाना होगा। नफरत और सांप्रदायिकता की इस आग को बुझाने के लिए हमें मिल जुलकर आगे आना होगा। अगर हम ऐसा करेंगे तो कोई कारण नहीं कि सांप्रदायिक ताकतों को पराजित न कर सकें।

(Solidarity is Necessary to Extinguish the fire of Hatred)

Also Read : SP Government will be Formed in UP : बोले पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी, यूपी में बनेगी सपा की सरकार

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
indianews

Most Popular

Recent Comments