Sunday, October 2, 2022
HomeHealth Tipsअब स्टेम सेल थेरेपी को अलग से बनेगा नया विभाग, प्रदेश का...

अब स्टेम सेल थेरेपी को अलग से बनेगा नया विभाग, प्रदेश का पहला मेडिकल कॉलेज होगा जीएसवीएम : Stem Cell Therapy Facility will be available in Kanpur GSVM

गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल (जीएसवीएम) मेडिकल कालेज में प्रदेश का पहला मेडिकल कालेज होगा। इसमें स्टेम सेल थेरेपी सर्जरी विभाग का विभाग होगा। यहां दूर-दूर से आने वाले रोगियों को इलाज मिल सकेगा।

इंडिया न्यूज, कानपुर : Stem Cell Therapy Facility will be available in Kanpur GSVM कानपुर जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज प्रदेश का पहला राजकीय मेडिकल कॉलेज होगा, जिसमें अलग से स्टेम सेल थेरेपी का विभाग बनेगा। अभी यहां स्टेम सेल थेरेपी सर्जरी विभाग के समन्वय से दी जा रही है। विभाग बनने के बाद स्टेम सेल के क्षेत्र में शोध बढ़ेंगे। विभिन्न नए रोगों में स्टेम सेल थेरेपी दिए जाने का दायरा बढ़ेगा।

अभी चुनिंदा रोगी की हो रही थी थेरेपी

मेडिकल कालेज में अभी चुनिंदा रोगों में यह थेरेपी दी जा रही है। कॉलेज प्रबंधन ने विभाग का खाका तैयार कर लिया है। विभिन्न मदों के संबंध में शासन को प्रस्ताव भेज दिए हैं। कॉलेज में स्टेम सेल थेरेपी से संबंधित कमेटी का गठन हो चुका है। यही समिति थेरेपी से संबंधित प्रस्ताव पास करके केंद्र को भेजती है।

Also Read: First Visuals From Ranbir-Alia Wedding: शादी के बंधन में बंधे रणबीर-आलिया, सामने आईं पहली तस्वीरें

पैदाइशी बीमारियों में दी जाती स्टेम सेल थेरेपी

सर्जरी विभाग में अभी कुछ पैदाइशी बीमारियों में स्टेम सेल थेरेपी दी जा रही है। इनमें बर्जर डिजीज और न्यूरो की बीमारियां हैं। इसके अलावा नसों के संकुचित होने से गैंगरीन के रोगियों को भी थेरेपी दी गई है। मुंबई के स्टेम सेल थेरेपी विशेषज्ञ डॉ. बीएस राजपूत हर महीने के तीसरे मंगलवार को सर्जरी विभाग की टीम के साथ थेरेपी दे रहे हैं।

घुटने की गठिया की मिलेगी थेरेपी Stem Cell Therapy Facility will be available in Kanpur GSVM

Stem Cell Therapy Facility will be available in Kanpur GSVM 

जीएसवीएम मेडिकल कालेज में घुटने की गठिया में यह थेरेपी दिए जाने का नया प्रस्ताव तैयार किया गया। अभी तक इन रोगियों को पीआरपी थेरेपी दी जा रही थी, लेकिन उससे अधिक फायदा नहीं मिलता। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि खाका तैयार कर लिया गया है। कुछ प्रस्ताव भेजे गए हैं। स्टेम सेल बैंक बनाए जाने का भी प्रस्ताव है। इसमें बच्चों की नाड़ से मिलने वाली स्टेम सेल सुरक्षित रखी जाएगी। इन कोशिकाओं का प्रयोग बेहतर नतीजे देता है।

Also Read: वरुण ने पी रोड पर दौड़ाई बुलट तो लोग देखते ही रह गए : Varun Dhawan Flim Baval shooting in Kanpur

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

 

SHARE
Ajay Dubey
Ajay Dubey
India News Senior Sub Editor. Danik jagran & Amarujala as a City & Crime Reporter 15 Years.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular